All Tense in one article in hindi (Meaning,Example,types,kinds,chart)

TENSE (काल)

Tense का मतलब होता है समय या काल (period/time/era), अर्थात् tense के अंतर्गत हम किसी काम के होने की घटना या स्थिति के बारे में पता चलता है तथा हम जानते है कि, किसी भी काम का होना, verb बताती है अतः verb का कार्य कितना पूरा हुआ है तथा किस समय में हुआ है यह हमे tense के अंतर्गत ही पता चलता है।

तो आज हम जानेंगे की आखिरकार वास्तव में ये tense है क्या ? what is tenses ? types of tense? 12 types of tenses with examples and formula, identity of tense in hindi and english, helping verb of all tense.

Types of Tense

Tense, 3 प्रकार के होते है :

1) Present Tense (वर्तमान काल) : सामान्यतः जब हम वर्तमान की कुछ बात करते है जो फिलहाल अभी हो रहा है तो वह present tense के अंतर्गत आता है जैसे मोहन पढ़ाई करता है , मै स्कूल जा रहा हू, आप अभी इंग्लिश सीख रहे हो। इन सारे sentences में काम अभी वर्तमान में ही हो रहा है । generally हिन्दी के वाक्यों (sentences) के अंत में यदि है, हूँ, हों आदि शब्द आए तो वे sentences, present tense के ही होते है।

2) Past Tense (भूतकाल) : सामान्यतः जब हम भूतकाल या इतिहास या बीते हुए समय की कुछ बात करते है जो बीत गया तो वह past tense के अंतर्गत आता है जैसे मोहन पढ़ाई कर रहा था , कल मै स्कूल गया था, आपने इंग्लिश सीखी। इन सारे sentences में काम बीते समय में हुआ था। generally हिन्दी के वाक्यों (sentences) के अंत में यदि था, थे, थी आदि शब्द आए या आ, ई, ए की मात्रा आकर वाक्य खत्म हो जाये तो वे sentences, past tense के ही होते है। जैसे- कल मेने उसे देखा, उसने बहुत पढ़ाई की, मैंने उसके बारे में ऐसा कभी नहीं सोचा था।

3) Future Tense (भविष्य काल) : सामान्यतः जब हम भविष्य की कोई योजना बना रहे होते है या आगे आने वाले समय की कल्पना कर कुछ बात करते है तो वह future tense के अंतर्गत आता है जैसे मोहन पढ़ाई करेगा, मै कल से स्कूल जरूर जाऊंगा, आप इंग्लिश अवश्य बोलेंगे। इन सारे sentences में काम future (भविष्य या आने वाले कल) में होगा। generally हिन्दी के वाक्यों (sentences) के अंत में यदि गा, गें, गी आदि शब्द आए तो वे sentences, future tense के ही होते है।

(वैसे tense का मतलब English में तनाव भी होता है इसलिये ये बच्चों के syllabus में हमेशा ही उनको तनाव ही देता है और English  में एक joke भी है : The past present, and future walk into a bar. It was tense.)

अब इन तीनों में से प्रत्येक के भी 4 प्रकार होते है :

Subtypes of Tenses

आओ इन तीन Types के Tenses में से प्रत्येक के भी 4 प्रकारो को देखते है :

(1) Simple/Indefinite (साधारण/अनिश्चित) : जब काम कब से शुरू हुआ या कब तक चलेगा कुछ पता न हो तो sentence, simple/Indefinite होते है। इसके अंतर्गत सामान्य/ simple sentence भी आते है। generally ऐसे हिन्दी के वाक्यों (sentences) में verbs के साथ ता, ते, ती आता है अर्थात् verb जाता, गाता, उठता, बैठता, सोता, पड़ता, आदि दिखाई देती है।

(2) Continuous (सतत/लगातार) : जब काम शुरू होकर लगातार चलता रहें तथा पूर्ण ना हुआ हों तो sentence, Continuous होते है। generally ऐसे हिन्दी के वाक्यों (sentences) में verbs के साथ रहा, रहे, रही भी आता है अर्थात् verb जा रहा, गा रहें, उठ रहे, बैठ रही, सो रहा, पड़ रही आदि दिखाई देती है।

(3) Perfect (पूर्ण/निश्चित) : जब काम शुरू होकर पूर्ण हो जायें तथा काम या verb complete हो गई हो ऐसा feel (बोध) हों तो sentence, Perfect होते है। generally ऐसे हिन्दी के वाक्यों (sentences) में verbs के साथ चुका, चुके, चुकी या आ, ई, ए की मात्रा आती है अर्थात् verb जा चुका, गा चुके, उठ गए, बैठ चुकी, सो चुका, पड़ चुके आदि दिखाई देती है।

(4) Perfect Continuous (पूर्ण सतत) : जैसा की इसके नाम से पता चल रहा ये perfect एवं continuous दोनों से मिल कर बना है। जब काम पूर्ण होकर भी जारी रहें अर्थात् verb का कुछ हिस्सा हो चुका हो तथा अभी भी शेष हिस्से पर काम चल रहा हो तो sentence, perfect continuous होते है। generally ऐसे हिन्दी के वाक्यों (sentences) में verbs के साथ ता, ते, ती आकर रहा, रहे, रही आता है या sentence में रहा, रहे, रही आकर ‘से’ शब्द इस प्रकार आता है की समय का बोध हों अर्थात् verb जाता रहा, गाता रहा, उठता रहा, बैठतें रहे, सुबह से सो रहे, कई वर्षों से पढ़ रहा आदि दिखाई देती है।

12 Types of Tenses Identification Chart

तो इस प्रकार से कुल मिलाकर (total) 12 प्रकार के Tense होतें है। इन 12 Tenses को हिन्दी के वाक्यों (Sentences) में, वाक्य के आखिरी में देखकर आसानी से पहचान सकते है, वैसे ही English Sentences की पहचान होतीं है- Helping Verbs (HV) , English Sentences में हम इन्हे HV से पहचानते है, तो हमने नीचे Table (सारणी) में short में इन 12 की पहचान के बारे में बातचीत की है :

TensePresentPastFuture
Simple / IndefinitePresent Indefinite Tense

 

ता, ते, ती के साथ है, हू, हों आये

HV – Do / Does

Past Indefinite Tense

 

ता, ते, ती के साथ था, थे, थी आये या केवल आ, ई, ए की मात्रा आयें

HV – Did

Future Indefinite Tense

 

गा, गे, गी आये

HV – Shall / Will

ContinuousPresent continuous Tense

 

रहा, रहे, रही के साथ है, हूँ, हों आये

HV – Am / Are / Is

Past Continuous Tense

 

रहा, रहे, रही के साथ था, थे, थी आये

HV – Was / Were

Future Continuous Tense

 

रहा, रहे, रही के साथ होगा, होंगे, होगी आये

HV – Shall be / Will be

PerfectPresent Perfect Tense

 

चुका, चुके, चुकी या आ, ई, ए की मात्रा के साथ है, हूँ, हों आये

HV – Have / Has

Past Perfect Tense

 

चुका, चुके, चुकी या आ, ई, ए की मात्रा के साथ था, थे, थी आये

HV – Had

Future Perfect Tense

 

चुका, चुके, चुकी या आ, ई, ए की मात्रा के साथ होगा, होंगे, होगी आये

HV – Shall have / Will have

    Perfect ContinuousPresent Perfect Cont. Tense

 

रहा, रहे, रही आकर ‘से’ समय बोध कराकर है, हूँ, हों आये

HV – Have been / Has been

Past Perfect Cont. Tense

 

रहा, रहे, रही आकर ‘से’ समय बोध कराकर था, थे, थी आये

HV – Had been

Future Perfect Cont. Tense

 

रहा, रहे, रही आकर ‘से’ समय बोध कराकर होगा, होंगे, होगी आये

HV – Shall have been / Will have been

tense- chart (Active voice)

12 Types of Tenses

आप अब नीचे प्रत्येक पर क्लिक कर इन्हे आसानी से Detail (विस्तार) में समझ सकते है –

Simple / Indefinite Tense

  1. Present Indefinite Tense
  2. Past Indefinite Tense
  3. Future Indefinite Tense

Continuous Tense

  1.  Present continuous Tense
  2.  Past Continuous Tense
  3.  Future Continuous Tense

Perfect Tense

  1. Present Perfect Tense
  2. Past Perfect Tense
  3. Future Perfect Tense

Perfect Continuous Tense

  1. Present Perfect Continuous Tense
  2. Past Perfect Continuous Tense
  3. Future Perfect Continuous Tense

Conclusion

तो इस प्रकार हमने हिन्दी मे बेसिक टेन्स एवं हिन्दी and English में उनकी पहचान (Identification) को समझा। अब आप जब प्रत्येक को अलग से पढ़ेंगे तो आपको सब सरल ही लगेगा और समझ में भी आने लगेगा लेकिन हम चाहते है आप इनकी Helping Verb याद कर sentences की Practise करें तो आपकी Speaking English बेहतर होने लगेगी। साथ ही हमेशा याद रखे हिन्दी and English दोनों अलग-अलग भाषा है,इसलिए आपको इन सारे tenses को English में भी इस साइट पर पढ़ना है ताकि हम इसे और बेहतर समझ सके।

हमे पूर्ण विश्वास है की आप एक दिन बेहतर English Speaker बनेगे।

Leave a Comment